मानना घातक है, जानना समझदारी है

                                                                                                           jeevan vidhya  मान्यता अर्थात बिना जाने सुख का स्त्रोत मानना है । मानना अर्थात किसी आश्वस्ति पर स्वीकारना है । यह संवेदना पर आधारित होता है । मानने में क्या नकारात्मकता है ? मानना कैसे विनाशक है ? मानना सदैव गलत भी नही होता है । मानना छोड़, उसको जांचने की जरूरत बता रहे हैं ।

                                                                    मान्यता का परीक्षण करता चल, पंहुच जायेगा अपनी मंजिल । हम मानने के आधार पर जीते हैं । इसे देख नहीं पाते हैं व इसे ही स्वतः सच मान लेते हैं । मान्यताएं जिनसे हम संचालित है उनका परीक्षण करने की आवश्यकता है । मान्यताएं पराधीनता की सूचक है क्योंकि उनका आधार दूसरे हैं । उनके आधार पर हम प्रामाणिक जीवन नहीं जी सकते हैं ।

                                                                         ‘एक रूका हुआ फैसला’ नामक हिन्दी फिल्म दिखाई जिससे निर्णय प्रवृति जांचने मिली कि कैसे हम अपने स्वार्थवश या अज्ञानवश जल्दबाजी में निर्णय करते हंै । अपनी-2 मान्यता के आधार पर सोचते हैं। यह नहीं करना है । फिर धिरे-धिेरे संवाद से मान्यताएं बदलती है । प्रारम्भ में जूरी के ग्यारह सदस्य आरोपी को कसुरवार मानते हैं । यह सब धिरे-धिरे बदल कर उसे बेकसुर मानने लगते हैं । तर्क द्वारा शान्ति से अपनी बात खुले मन से करने पर सच्चाई की दिशा में प्रयत्न किए जा सकते हंै । किसी के साथ अपने पूर्वाग्रहों व अनुकरण के कारण अन्याय न करें । मनुष्य मनुष्य बीच सम्बन्ध न्याय पर ही टिके हुए हैं । अतः व्यवहार बढ़ाना है तो न्याय पर ध्यान देना चाहिए ।

Related Posts:

जीवन विद्या के अनुसार मूल्य एवं कीमत में क्या फर्क है ?

जीवन विद्या शिविर :स्वयं को जांचने व मापने की कला सीखी

बातचीत में निर्णय नहीं सुनाए, प्रस्ताव रखें:जीवन विद्या

क्या कार्य पूरा करने हेतु ‘‘छोटा रास्ता’’ चुनना उचित है ?

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s