अन्तर्यात्रा, होश बढ़ाने में नादानुसंधान सहायक है

नादानुसंधान ध्यान के पूर्व का अभ्यास है । यह ध्यान के लिए साधक को तैयार करता है । अनाहत नाद को सुनना इसका उद्देश्य है । यह अन्तर्यात्रा में सहायक है ।shilpa pranayam ध्यान मुद्रा मे बैठ कर चिन् मुद्रा धारण कर आंखे बन्द व शरीर शिथिल रखें । धीरे से श्वांस भरें व धीरे-धीरे अ-कार का उच्चारण करते हुए श्वांस छोड़ें । अपना होश कमर के नीचे ले जाएं । कमर के नीचे के भाग में कम्पन्न व मालिश को महसूस करें । इसके नौ चक्र करें । ध्यान मुद्रा मे बैठ कर चिन्मय मुद्रा धारण करें । आंखे बन्द रखें व शरीर को शिथिल करें । धीरे से श्वांस भरें व ऊ-कार का उच्चारण करते हुए धीरे-धीरे श्वांस छोड़ें । पेट, छाती व पीठ पर ध्यान ले जाएं । गर्दन के नीचे के भाग में कम्पन्न व मालिश को महसूस करें । इसके नौ चक्र करें । ध्यान मुद्रा मे बैठ कर आदि मुद्रा धारण करें । आंखे बन्द रखें व शरीर को शिथिल करें । धीरे से श्वांस भरें व म-कार का उच्चारण करते हुए धीरे-धीरे श्वांस छोड़ें । सिर में कम्पन्न महसूस करें । इसके नौ चक्र करें । ध्यान मुद्रा मे बैठ कर ब्रह्म मुद्रा धारण करें । आंखे बन्द रखें व शरीर को शिथिल करें । धीरे से श्वांस भरें व ओम का उच्चारण करते हुए धीरे-धीरे श्वांस छोड़ें । पूरे शरीर में कम्पन्न महसूस करें । इसके नौ चक्र करें । अ, ऊ, म व ओम का उच्चारण अलग-अलग इस तरह करें कि शरीर मे सूक्ष्म कम्पन्न उत्पन्न हो सके । शरीर के प्राकृतिक कम्पन्नों के अनुरूप उच्चारण होने पर ही अनुनाद उत्पन्न होता है । इसलिए इन ध्वनियांे का उच्चारण इस तरह करें कि शरीर में अनुनाद उत्पन्न हो सके । इस तरह के अनुनाद उत्तेजक का कार्य करते हैं एवं अनुनाद के बाद का मौन हमारे होश को बढ़ाता है जो सुक्ष्म तनावों को समाप्त करता है । यह अभ्यास अन्र्तध्यान में सहायक है । इसको करने से शरीर में लयबद्धता बढ़ती है । यह होश बढ़ाता है । इसको करने से शरीर में अराजकता कम होती है । यह ध्यान के पूर्व का अभ्यास है । इसको करने से ध्यान गहरा होता है । Related Posts:

मन/श्वांस को शान्त /संतुलित करने के लिए विभागीय श्वसन करें

तनाव व चिन्ता घटाने हेतु भ्रामरी प्राणायाम करें

ऊर्जावान बने रहने व वजन घटाने सूर्य नमस्कार करें

जब कठिन आसन व प्राणायाम न कर सको तो सूक्ष्म व्यायाम करें

गहन रिलैक्स करने वाले साइक्लिक मेडिटेशन का परिचय

3 विचार “अन्तर्यात्रा, होश बढ़ाने में नादानुसंधान सहायक है&rdquo पर;

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s