बीमारी का नहीं, बीमार का इलाज होना चाहिए

सामान्यतः डाॅक्टर लोग रोगी को देख कर रोगों का ईलाज करते हैं । जबकि रोगी का ईलाज किया जाना चाहिए । क्योंकि प्रत्येक रोगी भिन्न है । प्रत्येक रोगी की कोशिकाएं, डीएनए, प्रतिरोध क्षमता भिन्न होती है । illnessएक व्यक्ति का आंतरिक संगठन व संरचना कई तरह से भिन्न होती है । वे एक भौतिक ईकाइ नही है । सबकी अपनी-अपनी विशेषताएं व कमजोरियां है । अतः रोगों को देखकर ईलाज करना उचित नहीं है । तभी तो कहावत है कि एक को बैंगन पच एवं दूसरे को वायु करता है।
मच्छर कई लोगों को काटता है लेकिन सभी को मलेरिया नही होता है । हम सब के शरीर में टीबी के वाइरस है लेकिन सब को टीबी नहीं हुई है । क्यों ? प्रत्येेक व्यक्ति की प्रतिरोध क्षमता भिन्न-2 होती है । मलेरिया परजीवी कुछ व्यक्तियों में बुखार फैला देते हैं । कुछेक व्यक्ति इससे घायल हो जाते हैं । सबके शरीर इनके विकास में सहायता नहीं करते हैं । यह साइको-बायलोजिकल माडल है।
प्रकृति भी प्रत्येक व्यक्ति को समाज की तरह समान नहीं मानती है । क्योंकि सब में कुछ बड़ी समानताओं के उपरान्त असमानताएं भी होती है । तभी तो आज समाज सबको समान मानकर व्यववहार करता है जो उचित नहीं होता है । तन्त्र की असफलता के पिछे सबको समान मानना बड़ा कारण है ।
डाॅक्टर शरीर का ईलाज करता है । हम मात्र शरीर नहीं है । मनुष्य शरीर, मन व चेतना का गठजोड़ है । चिकित्सा विज्ञान के अनुसार ‘‘आप शरीर को ठीक रखो, मन अपने आप ठीक हो जाएगा ।’’ की कहावत बायोमेडिकल माडल अनुरूप है । जो यह मानता है कि शरीर को ठीक कर दो । बाकी सब स्वतः ठीक हो जाएगा । यह ठीक नहीं है।

Related Posts:

वनस्पति घी भी स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है

थकान मिटाने हेतु हर्बल ऊर्जा पेय घर पर बनाएं

“जियो तो ऐसे जियो” यह पुस्तक आपके लिए क्यों उपयोगी है

क्या किमो से कैन्सर ठीक होता है ? लोथर हरनाइसे की विश्व प्रसिद्ध कृति ‘‘किमोथेरेपी हिल्स कैन्सर एण्ड दी वर्ड इज फ्लेट’’

3 विचार “बीमारी का नहीं, बीमार का इलाज होना चाहिए&rdquo पर;

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s