बच्चों का व्यवहार:हमारे व्यवहार पर निर्भर

  • बच्चों को प्रोत्साहित करते रहेंगे तो उनमें आत्मविश्वास बढ़ेगा।
  •  बच्चों के सुख दुःख में साथ देगें तो उनका दिल बड़ा होगा।
  •  बच्चों के गुणों की प्रसंशा करेंगे तो वे भी दूसरों की प्रशंसा करना सीखेगें।
  •  बच्चों के साथ मित्रता रखेंगे तो उनको भी ऐहसास होगा कि दुनिया सुंदर है वे
  • जीवन का मकसद समझेगें।
  •  बच्चों को गलतियों के साथ अपनाएंगे तो वे भी आपकोे गलतियाँे होने पर अपनाएंगे।
  •  बच्चों को हमेशा डराते रहेगें तो वे डरपोक बनेंगे।
  •  बच्चों को अगर बार-बार दोष देंगे तो वे स्वयं को एवं आपको पसन्द नहीं करेंगे।
  •  बच्चों के साथ दुश्मनी भरा व्यवहार करेंगे तो वे झगड़ालू स्वभाव के बन जाएंगे।
  •  बच्चों को हमेशा तिरस्कृत करंेगे तो वे हताश हो जाएगें।
  • बच्चों का उपहास करेंगे तो वे नीरस बन जाएंगे।
  •  बच्चों को लाचार बनाओगे तो उनके मन में संकोच उत्पन्न होगा।

2 विचार “बच्चों का व्यवहार:हमारे व्यवहार पर निर्भर&rdquo पर;

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s