जब सुखी होना, खुद को खोजना हो तो ‘किताब-ए-मीरदाद’ उपयोगी है

मिखाइल नईमी द्वारा रचित पुस्तक ‘किताब-ए-मीरदाद’ अध्यात्म का सर्वोत्कृष्ट बीसवीं सदी की भाषा में लिखा ग्रन्थ है। ओशो ने एक बार कहा था कि किसी कारण वश सारे ग्रन्थ नष्ट हो जाए एवं यदि यह कृति शेष रहे तो सभ्यता फिर भी विकसित हो सकती है। चूकिं इस ग्रन्थ में सभी सत्यों का सार एवं जीवन का सार है। इसमें संस्कृति का उद्वार करने की कला एवं आत्म ज्ञान को प्राप्त करने की क्षमता है। यह एक ग्रन्थ नहीं बल्कि प्रकाश स्तम्भ है।

यह ग्रन्थ गीता,बाईबिल एवं कुरान के समकक्ष रखने योग्य है। इसमें आत्मिक उन्नति की विधि एक मठ की कथा की माध्यम से रखी हुई है। उक्त कृति में पहाड़ पर स्थापित पुराने मठ से जुड़ी कहानी है। प्रतिकात्मक भाषा में गूढ़ बातें इस पुस्तक मंे लिखी हुई है। साधक की दृष्टि को मजबूत कर उसकी राह के काँटे हटाती है। नकारात्मकता का सामना करने की समग्र विधि इसमंे है।

यह व्यवाहारिक पुस्तक नहीं है, संसार में रस जिनको आता हो उनके लिए यह नहीं हैै। जो संसार से थक गए है उनके लिए ज्योति प्रदायक है। जो नहीं कहा जा सकता है, उसे कहने में यह सक्षम है। परम सत्य को लेखक को कथा के रूप में बुनने में महारथ प्राप्त है। यह हमारे उपनिषदों की तरह है।

लेखक लिखता है कि हम जीने के लिए मर रहे है जबकि लेखक मरने के लिए जी रहा है। विचारणीय है कि जीने के लिए मरे या मरने के लिए जिए।
साथ ही इसमें लिखा है:
प्रेम ही प्रभु का विधान है।
तुम जीते हो ताकि तुम प्रेम करना सीख लो।
तुम प्रेम करते हो ताकि तुम जीना सीख लो।
मनुष्य को और कुछ सीखने की आवश्यकता नहीं।
और प्रेम करना क्या है, सिवाय इसके कि प्रेमी प्रियतम को
सदा के लिये अपने अन्दर लीन कर ले
ताकि दोनों एक हो जायें?

मिखाइल नईमी लेबनान के ईसाई परिवार में पैदा हुए, रुस में शिक्षा ग्रहण की एवं आगे की शिक्षा अमेरिका में। वहीं पर वे खलील जिब्रान से जुड़े एवं वहीं मातृभाषा अरबी की संस्कृति एवं साहित्य को नव जीवन प्रदान करने के लिए 1947 में द बुक आॅफ मीरदाद लिखी।
यह पुस्तक राधा स्वामी सत्संग व्यास, नई दिल्ली द्वारा हिन्दी में प्रकाशित है। वहाँ से इसे प्राप्त की जा सकती है। यदि अपनी तलाश है एवं बहुत से प्रयोग करने के कारण थक गए है तो यह पुस्तक आपको तेरा सकती है। तभी इसमें लिखा है कि जिनमें आत्म-विजय के लिए तड़प है उनके लिए यह आलोक-स्तम्भ और आश्रय है। बाकी सब इससे सावधान रहें।
Related posts:

The Book of Mirdad(English text)

अॅल्केमिस्ट पाओलो कोएलो का विश्व प्रसिद्ध उपन्यास

मानव देह का मूल्य 

आपकी शक्तिः आपका मस्तिष्क

आपके एक मिनट की कीमत क्या है?

37 विचार “जब सुखी होना, खुद को खोजना हो तो ‘किताब-ए-मीरदाद’ उपयोगी है&rdquo पर;

  1. those who want to read the book of mirdad they can avail book from RADHASOAMI SATSANG BEAS, BEAS- DISTRICT AMRITSAR, STATE- PUNJAB, or the book can be ordered on the website http://www.scienceofthesoul.com . also the book can be avail from the authorised satsang centres of radhasoami satsang beas in more than thousand of centres across india. radhasoami satsang beas is renown well and centres are located in every states of india in every district and tehsils also

  2. This is a marvelous book. I think, after reading this book, there is no need to read any other spiritual book for those who really understand and follow it. After reading this book you must read the 7th chapter (Song without word) of ‘Osho Upnishad’ where you will get the osho’s thought about this book. But my humble request is to read the osho upanishad after reading ‘The book of Mirdad’ and not before, other wise you will miss something.

      1. यह पुस्तक राधा स्वामी सत्संग व्यास, नई दिल्ली द्वारा हिन्दी में प्रकाशित है। वहाँ से इसे प्राप्त की जा सकती है।

    1. जिसको सतगुरु की दया से मिल गई, और उसने इसको बार बार पढ़कर अमल किया , उसकी खोज सौ प्रतीशत सफल हो गइ , परमेश्वर कितने पास है, कितनी अस्सानी से मिला जा सकता है, सब इसमें उसने खुद ही लिखवाया है !!! हे सतगुरु , सब पर कृपा करें .

  3. क्यों नहीं इस वेबसाइट के मालिक इस किताब के हिंदी में मिलने का पता ऊपर ही नहीं लिख देते ? अगर लिखना मना है तो भी स्पस्ट करना चाहिए ! अगर लिखना मना है तो किसी को भी नहीं लिखना चाहिए !!!

  4. who ever would like to get the book Kitab ‘e’ Mirdad by Mikhail Naomi so please mention your address or phone no so that we can arrange to delivery as soon as possible.

    Aaap sabhi se nivedan hai ki jis kise bhi ye kitab chahiye kripya aap sab apna address phone sahit likhne ki kripa karen taki aapko ghar baithe ye kitab uplabdh karvayi ja sake.

    Thanks
    Kamal Jaggi

  5. http://myspiritualitydiscourses.blogspot.com/2014/10/hindi-234.html , this is start link all connecting link you may find after get this one . blessings always on the way . for text just grab it here ! https://www.youtube.com/watch?v=UapknF9AsYE for youtube just getting start about under meerdad Song . get it here https://www.youtube.com/channel/UCZ7af_9CV1CnNaIWFinOdLg

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s